इंसान कर रहा है इंसानियत का कत्ल

देश में मॉब लिंचिंग की घटनाएं आम हो चली हैं। सडक़ों पर बिना किसी खौफ के इंसानों के कत्ल हो रहे हैं। धर्म और जाति के नाम पर समाज में फैली नफरत इंसानों के हाथों इंसान का कत्ल करवा रही है। 

सोशल मीडिया पर किसी ना किसी दिन हिंसा की घटनाओं संबंधी वीडियो वायरल हो रहे हैं। ऐसी ही एक घटना का वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब शेयर किया जा रहा है, जिसमें एक व्यक्ति को जय श्रीराम के नारे लगाते हुए बेरहमी से पीट-पीट कर लहूलुहान कर दिया जाता है। हालांकि यह घटना कहां और कब हुई, इसके बारे में स्थिति स्पष्ट नहीं है।

Watch

बसपा सांसद ने कह दी ऐसी बात कि भाजपा सांसद...

बसपा सांसद दानिश अली ने लोकसभा में चर्चा के दौरान मोदी सरकार पर ट्रिपल तलाक को लेकर हमला बोला। उन्होंने मोदी सरकार से कहा-महिलाओं के अधिकार दिलाने की बात आपने तो कभी की ही नहीं। ट्रिपल तलाक पर बसपा सांसद ने मोदी सरकार को पहले अपने घर को देख लेने की बात कह दी, जिस पर हंगामा हो गया।

Watch

इस बसपा सांसद ने कांग्रेस-भाजपा के दलित प्रेम के राज खोले

बसपा के राज्यसभा सांसद और पंजाब के नए प्रदेश प्रभारी राजा राम ने संसद में जम्मू-कश्मीर में दलितों-पिछड़ों के हालात बयां किए। उन्होंने कहा कि 6 लोकसभा सीटों वाले जम्मू-कश्मीर राज्य से आज तक कोई भी दलित चेहरा सांसद नहीं बना। 

Watch

अब इस राज्य में विपक्षी पार्टियों ने ईवीएम के खिलाफ मोर्चा खोला

देश में ईवीएम के खिलाफ आवाज तेज होती जा रही है। लगभग सभी विपक्षी पार्टियों का कहना है कि उन्हें ईवीएम पर बिल्कुल भरोसा नहीं है। वे बैलेट पेपर से चुनाव चाहती हैं। ईवीएम के खिलाफ लड़ाई में विभिन्न संगठनों के साथ-साथ आम जनता भी आंदोलन की तैयारी में है। देश में ईवीएम हटाने की मांग जोर पकड़ रही है। इसी कड़ी में हरियाणा में भी विपक्षी पार्टियों ने ईवीएम के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

Watch

भारतीय क्रिकेट टीम में हमेशा उच्च जाति वर्ग के खिलाडिय़ों का रहा है दबदबा

भारतीय क्रिकेट टीम में हमेशा उच्च जाति वर्ग के खिलाडिय़ों का दबदबा रहा है। पिछले कई सालों से किसी भी दलित खिलाड़ी को क्रिकेट टीम में जगह नहीं मिल पाई है। विनोद कांबली आखिरी ऐसे दलित खिलाड़ी थे, जिन्हें भारतीय क्रिकेट टीम में जगह मिली थी। 1991 में वनडे क्रिकेट और 1993 में टेस्ट क्रिकेट करियर की शुरुआत करने वाले विनोद कांबली ने कई शानदार पारियां खेलीं। अक्टूबर 2000 के बाद भारतीय टीम में उन्हें कभी चुना नहीं गया।

उनके बाद से आज तक किसी भी दलित खिलाड़ी को भारतीय क्रिकेट टीम में जगह नहीं मिल पाई है। यहां तक कि धार्मिक अल्पसंख्यकों की टीम में उपस्थिति भी नाममात्र रही है।

10 जुलाई को हुए सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड के हाथों हारने वाली भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाडिय़ों पर नजर मारें तो इनमें कोई भी दलित चेहरा नहीं था। विश्व क्रिकेट कप के दौरान अच्छी परफार्मेंस देने वाले एकमात्र मुस्लिम खिलाड़ी मोहम्मद शमी को भी सेमीफाइनल में जगह नहीं दी गई। शमी ने वल्र्ड कप 2019 टूर्नामेंट में 4 मैचों में 14 विकेट लेकर अच्छा प्रदर्शन किया था।

Watch

पंजाब में दलितों को गोलियों से भूना; 2 की मौत

पंजाब के श्री मुक्तसर साहिब में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। यहां के गांव जवाहरेवाला में तथाकथित उच्च जाति के लोगों ने रंजिशन दलित मजदूरों को सरेआम गोलियों से भून दिया। इस गोलीकांड में एक महिला समेत 2 लोगों की मौत हो गई, जबकि गोलियां लगने से दलित पक्ष के 2 लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए। पुलिस ने इस संबंध में यूथ कांग्रेस के ब्लाक प्रधान समेत 11 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, पूर्व सरपंच पलविंदर सिंह पप्पा का प्रत्याशी पिछले पंचायत चुनाव में सरपंची का चुनाव हार गया था। तभी से उसकी जीतने वाले दलित सरपंच पक्ष के साथ रंजिश चली आ रही थी। नई बनी पंचायत ने दलितों के मोहल्ले में मनरेगा के तहत गली पक्की करने का काम शुरू करवाया था। वहीं, पलविंदर सिंह पप्पा का गुट गांव में प्रबंधक लगाकर यह काम करवाना चाहता था।

13 जुलाई को जब यह काम चल रहा था तो पूर्व सरपंच पलविंदर सिंह पप्पा और सुखविंदर सिंह उर्फ दुग्गी सिंह हथियार लेकर करीब एक दर्जन लोगों समेत मौके पर पहुंच गए। इसी दौरान दुग्गी सिंह ने अपनी बंदूक से फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें दलित पक्ष की मिन्नी रानी (25) और उसके देवर किरनदीप सिंह (25) की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, किरनदीप सिंह के भाई धरमिंदर व गुरजीत गंभीर रूप से जख्मी हो गए।

Watch

भाजपा के ब्राह्मण विधायक की बेटी ने किया SC युवक से विवाह

उत्तर प्रदेश के बरेली की बिथरी चैनपुर सीट से भाजपा के ब्राह्मण विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी ने एससी वर्ग के युवक अभि से प्रेम विवाह कर लिया। इसके बाद उसने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया, जिसमें उसने खुद और पति अभि की जान को अपने विधायक पिता से खतरा बताया। वीडियो में साक्षी ने कहा कि उसके पिता ने उनके विवाह के चलते गुस्से में आकर दोनों को मारने के लिए गुंडे भेजे। उसने कहा कि मुझे अगर कुछ हुआ तो जिम्मेदार मेरे विधायक पिता और उनके दोस्त राजीव राणा होंगे। एससी लडक़े से विवाह करवाने वाली साक्षी ने अपने पिता को सोच बदलने की नसीहत भी दी।

Watch
 1 2 3 >