बसपा के हिस्से के वोट भाजपा के खाते में चले गए

इसी साल की शुरुआत में यूपी समेत पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के दौरान ईवीएम में भाजपा के पक्ष में हेराफेरी किए जाने का मुद्दा जमकर उछला था। इसके बाद भी कई जगह हुए चुनावों के दौरान ईवीएम में गड़बड़ी की घटनाएं सामने आती रही हैं। अब नए मामले यूपी के निकाय चुनाव में सामने आए हैं।

22 नवंबर को यूपी के कई जिलों में ईवीएम गड़बड़ी की शिकायतें आईं। मतदान केंद्र पर वोट डालने आए कई लोगों ने आरोप लगाया कि वे मतदान के समय बटन हाथी (बसपा) वाला दबा रहे थे, लेकिन ईवीएम में बत्ती भाजपा के चुनाव चिन्ह कमल के सामने वाली जल रही थी।

कानपुर में इसे लेकर जमकर हंगामा भी हुआ। यहां के नगर निगम के वार्ड 58 में भाजपा को छोडक़र अन्य सभी प्रत्याशियों ने जमकर प्रदर्शन किया। हालात इस कद्र बेकाबू हो गए कि मौके पर भारी पुलिस फोर्स तैनात करनी पड़ी।

मौके पर बसपा समेत अन्य उम्मीदवारों के समर्थकों ने कैबिनेट मंत्री सतीश महाना के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और ईवीएम में धांधली करके भाजपा पर चुनाव जीतने का आरोप लगाया।

मेरठ में भी मतदाताओं और प्रत्याशियों ने आरोप लगाया कि बटन कोई भी दबाओ, पर सारे वोट भाजपा के खाते में जा रहे हैं। यहां कई वार्डों में मतदाताओं ने ईवीएम छेड़छाड़ के आरोप लगाए। यहां के वार्ड 89 में गड़बड़ी को लेकर मतदाताओं ने जमकर हंगामा किया।

इस संबंधी एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। तसलीफ आरिफ नाम के एक व्यक्ति ने अपना वोट बहुजन समाज पार्टी को दिया तो उनके सामने की बत्ती नहीं जली, बल्कि वोट भाजपा के खाते में जुड़ गया। इस बात पर स्थानीय नेताओं और प्रशासन से शिकायत की गई तो काफी हंगामा किया गया।

 

Watch

दलित को पीटते रहे दबंग, लोग तमाशा देखते रहे

दबंगों द्वारा एक दलित को डंडों से बेरहमी से पीटे जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में कुछ लोग बीच सडक़ एक दलित की पिटाई करते हुए दिखाई दे रहे हैं, जबकि वहां खड़े लोग तमाशा देखने में लगे हुए हैं।

पलपल इंडिया की एक खबर के मुताबिक, यह मामला मध्य प्रदेश के चंबल क्षेत्र का है। वीडियो में जिस शख्स की पिटाई की जा रही है, उसका नाम कल्याण जाटव बताया जाता है। वह कल्याण खेरी गांव का रहने वाला है, जबकि उसे पीटने वाले लोग भी उसी के गांव के दबंग बताए जाते हैं। इन लोगों ने कल्याण जाटव से कुछ दिन पहले भी मारपीट की थी।

कल्याण ने जब इसकी शिकायत पुलिस से की तो दबंग और भडक़ गए, जिन्होंने कल्याण को गांव जाते समय अटेर रोड पर घेरकर बुरी तरह से पीटा।

Watch

गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में कथक आर्टिस्ट अवनी सेठी ने बेखौफ होकर दिया संदेश

मुसलमानों के खिलाफ दंगों, दलितों के खिलाफ अत्याचार के बाद इन दिनों गुजरात लव जेहाद को लेकर चर्चा में है। इस प्रदेश की राजधानी अहमदाबाद में कई जगह सडक़ों के किनारे दीवारों पर लव जेहाद से संबंधित बातें लिखी हुई हैं। दीवारों पर लिखा गया है-हिंदू लड़कियां लव जेहाद से सावधान रहें। अंत में लिखा गया है-बजरंग दल।

अहमदाबाद में ही रहने वाली हिंदू लडक़ी कथक आर्टिस्ट अवनी सेठी को प्यार के मामले में बैठाई जा रही ऐसी बंदिशें बर्दाश्त नहीं हुईं। ऐसे में उसने एक अनोखे ढंग से इसका करारा जवाब दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, अवनी सेठी ने एचके आट्र्स कॉलेज के बाहर मुगल-ए-आजम फिल्म के गीत -जब प्यार किया तो डरना क्या- पर डांस किया। यह परफार्मेंस उसने उस दीवार के सामने दी, जिस पर लिखा था-हिंदू लड़कियां लव जेहाद से सावधान रहें-बजरंग दल-। इसी गीत पर अवनी सेठी ने शहर की उन चार और सडक़ों के किनारे डांस किया, जहां दीवारों पर लव जेहाद के बारे में चेताते हुए शब्दावली लिखी गई थी।

अवनी ने प्यार के नाम पर की जा रही रोक-टोक को खौफ पर आधारित राजनीति बताया। अवनी ने कहा कि पांच स्थानों पर परफार्मेंस देने के लिए उसने -प्यार किया तो डरना क्या-गीत को इसीलिए चुना, क्योंकि इसके जरिये उस मुद्दे को अच्छी तरह से लोगों के बीच रखा जा सकता है, जिसे वह उठाना चाहती थी।

उसने कहा कि अगर किसी को किसी से प्यार है तो उसे अभिव्यक्ति की खुली आजादी होनी चाहिए। अगर हम प्यार में हैं तो हम डरें क्यों? अगर मुझे प्यार होगा तो मैं इसका बेखौफ होकर इजहार करूंगी।

अवनी की ओर से दी गई प्रस्तुति की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसे कई लोगों द्वारा खुलकर सराहा जा रहा है।

Watch

लुधियाना में चर्च के पास गोलियां मारकर की गई थी पास्टर की हत्या

पंजाब के लुधियाना में पास्टर सुल्तान मसीह की हत्या के मामले में आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा ने गंभीर आरोप लगाए हैं। मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि पास्टर की हत्या के पीछे उन्हें भाजपा, आरएसएस व हिंदू संगठनों का हाथ होने का शक है।

वहीं पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्मृति मंच पंजाब के महामंत्री व पूर्व महामंत्री युवा भाजपा अशोक सरीन हिक्की ने खैहरा को कानूनी नोटिस भेजकर सात दिनों में माफी मांगने के लिए कहा है। सरीन ने कहा कि इस तरह के गलत बयान देकर खैहरा जनता को गुमराह करके पुलिस की जांच को गलत दिशा देने की कोशिश कर रहे हैं।

भाजपा के पंजाब उपप्रधान हरजीत सिंह ग्रेवाल व सचिव विनीत जोशी ने भी खैहरा के आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि खैहरा या तो सुबूत पेश करें या फिर माफी मांगें।

गौर हो कि लुधियाना के सलेम टाबरी क्षेत्र में 15 जुलाई की रात को मोटरसाइकिल सवार लोगों ने गोलियां मारकर पास्टर सुल्तान मसीह की हत्या कर दी थी। हमलावर मोटरसाइकिल पर आए थे, जिन्होंने रात 8.45 बजे सुल्तान मसीह पर गोलियां चलाईं और मौके से फरार हो गए। यह घटना क्रिश्चियन चर्च के बाहर हुई थी।

इस घटना के बाद लुधियाना में ईसाई समुदाय ने सडक़ों पर उतरकर प्रदर्शन किया था। पास्टर की हत्या के आरोपियों की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।

Watch

वाल्मीकि समाज के लोगों ने हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें घरों से उतारकर पुजारी को सौंपी

सोनी टीवी पर दिखाए जा रहे धारावाहिक 'संकट मोचन महाबली हनुमान' को लेकर वाल्मीकि समाज ने पंजाब के कपूरथला शहर में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान वाल्मीकि समाज के लोगों ने कहा कि सोनी टीवी पर दिखाए गए धारावाहिक में भगवान वाल्मीकि जी का अपमान किया गया है।

इससे पहले भी धारावाहिकों व कई लोगों द्वारा भगवान वाल्मीकि जी के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियां की जा चुकी हैं। बार-बार हो रही ऐसी घटनाओं को लेकर वाल्मीकि समाज आहत है। इसी के चलते समाज के लोगों ने हिंदू धर्म छोडऩे का फैसला किया है।

22 जुलाई को किए गए इस प्रदर्शन के दौरान वाल्मीकि समाज की ओर से बलबीर सिंह, विक्की, सोमा गिल, सोनू नाहर समेत बड़ी गिनती में लोग मौजूद थे। वहीं हालात को देखते हुए मौके पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई थी। वाल्मीकि समाज के लोगों ने मांग की कि सोनी टीवी पर दिखाए जाने वाले धारावाहिक को तुरंत बंद किया जाए और इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाए।

इस मौके पर उन्होंने 'हम हिंदू नहीं हैं', के नारे लगाते हुए अपने घरों से उतार कर लाई गई देवी-देवताओं की तस्वीरें मौके पर मौजूद एक पुजारी के सुपुर्द कर दीं। बताया जाता है कि प्रदर्शन कर रहे दलित समाज के लोग हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें घरों से उतार कर नदी में प्रवाहित करने जा रहे थे, लेकिन पुलिस ने उनसे ऐसा न करने की अपील की, जिसके बाद ये तस्वीरें वहां बुलाए गए एक पुजारी के हवाले कर दी गईं।

इस मौके पर वाल्मीकि समाज ने चेतावनी दी कि अगर धारावाहिक को लेकर कार्रवाई न की गई तो बड़े स्तर पर संघर्ष किया जाएगा। इससे पहले भी कलाकार राखी सावंत की विवादित टिप्पणी को लेकर काफी बवाल हो चुका है।

Watch

एक साल पहले : उना में तब ऐसे हुई थी दलितों पर बर्बरता

गुजरात के उना क्षेत्र में दलितों को गौरक्षकों द्वारा पीटे जाने की घटना को एक साल पूरा हो गया है। 11 जुलाई 2016 को हुई इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद देशभर में व्यापक स्तर पर प्रदर्शन हुए थे। तब गौरक्षकों ने दलितों पर गौ हत्या का आरोप लगाते हुए उन पर बर्बरता से अत्याचार किया था। दलितों को एक गाड़ी से बांधकर पीटा गया था। अब एक साल बाद फिर इस घटना से जुड़ी वीडियो सोशल मीडिया पर खूब शेयर की जा रही है।

Watch

हिंदू संगठनों के प्रदर्शन के दौरान झड़प, वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें हिंदू संगठन से जुड़े लोग प्रदर्शन करते दिखाई दे रहे हैं। वे नारेबाजी करते हुए रास्ते से गुजर रहे हैं। इसी दौरान दुकानें बंद करवाने को लेकर उनकी झड़प हो जाती है, जिसके बाद हिंदू संगठन के लोगों व सिखों में झड़प शुरू हो जाती है। यह घटना जम्मू की बताई जा रही है।

Watch
 1 2 >