Latest News

महिलाओं के खिलाफ अपराध में नेता भी पीछे नहीं, 51 सांसदों-विधायकों पर दर्ज हैं केस

बाबाओं द्वारा महिलाओं का यौन शोषण किए जाने के मामले इन दिनों सुर्खियों में हैं। देश की संसद और राज्यों की विधानसभाओं में जनता का प्रतिनिधित्व करने वाले कुछ नेताओं की स्थिति भी इन बाबाओं से अलग नहीं है। इस संबंध में आई एक रिपोर्ट बताती है कि देश के 51 सांसद और विधायक महिलाओं के खिलाफ अपराध में संलिप्त रहे हैं। इन अपराधों में महिलाओं से दुष्कर्म और अपहरण के मामले भी शामिल हैं।

चुनाव सुधार के लिए काम करने वाले संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स (एडीआर) की बुधवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक इन 51 लोगों में 48 विधायक और 3 सांसद हैं।

पार्टी के अनुसार बात करें तो इनमें सबसे ज्यादा 14 विधायक भाजपा के हैं। इनके अलावा शिवसेना के 7 और तृणमूल कांग्रेस के 6 सदस्य हैं। यह जानकारी सांसदों, विधायकों के शपथ-पत्रों के विश्लेषण से जुटाई गई है। 776 सांसदों में से 774 और देशभर के 4120 विधायकों में से 4078 के शपथ-पत्र खंगाले गए थे। इनमें ही उन्होंने अपने खिलाफ दायर महिला विरुद्ध अपराध के मामलों की जानकारी दी है।

इनमें हमला या महिला की गरिमा भंग करने के उद्देश्य से आपराधिक बल का इस्तेमाल, अपहरण, महिला को शादी के लिए बाध्य करना, दुष्कर्म, महिला से क्रूरता, देह व्यापार के लिए नाबालिग की खरीद-फरोख्त, महिला का अपमान करने के उद्देश्य से हावभाव का प्रदर्शन शामिल हैं।

इतना ही नहीं, पार्टियों ने 334 ऐसे लोगों को टिकट दिए थे, जिनके खिलाफ महिलाओं के विरुद्ध अपराध के मामले दर्ज हैं। इनमें से 294 विधानसभा का चुनाव लड़े थे। बाकी 40 को लोकसभा या राज्यसभा के लिए टिकट मिला था।

Comments

Leave a Reply