Latest News

'जाति नहीं, रोहित वेमुला की हत्या के कारणों का पता लगाएं'

हैदराबाद यूनिवर्सिटी के पीएचडी स्कॉलर रोहित वेमुला की मौत के मामले में हाल ही में एक जांच रिपोर्ट सार्वजनिक की गई है। इसमें कहा गया है कि रोहित वेमुला दलित नहीं थे।

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा बनाए गए न्यायिक आयोग की ओर से पेश की गई रिपोर्ट पर रोहित के भाई राजा वेमुला ने कड़ी आपत्ति व्यक्त की है। एक हिंदी न्यूज वेबसाइट से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि कमेटी को यह अधिकार नहीं है कि वे यह तय करें कि हम लोग दलित हैं या नहीं।

रिपोर्ट में यह कहा गया है कि रोहित ने आत्महत्या विश्वविद्यालय प्रशासन से तंग आकर नहीं, बल्कि निजी कारणों से की थी। राजा ने आरोप लगाया कि जांच रिपोर्ट जाति पर केंद्रित है। उन्होंने कहा, मैं अनुरोध करना चाहता हूं कि हमारी जाति का नहीं, हत्या के मूल कारणों का पता लगाया जाए।

राजा ने कहा कि आखिर वे किस आधार पर कह रह हैं कि रोहित ने निजी कारणों के चलते आत्महत्या की। उन्होंने हमारे परिवार से बात तक नहीं की है। वे नेताओं और विश्वविद्यालय प्रशासन को बचाना चाहते हैं। उन्होंने कहा, यह बीजेपी की साजिश है। वे अपने नेताओं को बचाना चाहते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार रोहित अवसाद ग्रस्त था। इस पर उनके भाई राजा ने कहा, यह बिलकुल झूठ है। रोहित बहुत ही सक्रिय इंसान था। तेज़ तर्रार था। वह पढ़ाई में भी अच्छा कर रहा था। मंत्रालय की रिपोर्ट में कहा गया है कि रोहित वेमुला दलित नहीं थे, इस पर राजा वेमुला ने कहा, हम लोग माला समुदाय से हैं, जो अनुसूचित जाति से संबंध रखते हैं. आखिर वे किस आधार पर हमारी जाति तय कर रहे हैं।

Comments

Leave a Reply