Punjab

पंजाब के थानों में दलितों पर टूटा कहर, अब संगरूर में दलित को थर्ड डिग्री टॉर्चर


Updated On: 2016-01-02 10:23:08 पंजाब के थानों में दलितों पर टूटा कहर, अब संगरूर में दलित को थर्ड डिग्री टॉर्चर

चंडीगढ़। अबोहर में दलित भीम टांक हत्याकांड, अमृतसर में पुलिस टॉर्चर के चलते युवक की मौत होने, बठिंडा में तीन दलित भाइयों की पुलिस की अवैध हिरासत में बेरहमी से पिटाई...। ये वे मामले हैं, जो कि पंजाब में दलितों पर होने वाले अत्याचारों की गवाही देते हैं। इसी कड़ी में नया मामला संगरूर का जुड़ा है, जहां थाना सिटी में तैनात पुलिस कर्मचारियों ने एक दलित युवक को इतनी बेरहमी से टॉर्चर किया कि वह गंभीर हालत में पहुंच गया।

खबरों के मुताबिक थाना सिटी संगरूर में तैनात पुलिस कर्मचारियों ने दलित युवक मंगा सिंह को यातना देने में सारी हदें पार कर दीं। पुलिस कर्मियों ने उसके गुप्तांग में पेट्रोल तक डाल दिया। पुलिस ने उस पर शराब तस्करी का आरोप लगाया है।

पुलिस टॉर्चर के चलते हालत गंभीर होने पर मंगा को पहले सिविल अस्पताल और फिर पटियाला के राजिंदरा अस्पताल में भर्ती करवाया गया। उसकी हालत गंभीर बताई जाती है। लोगों का आरोप है कि पुलिस ने एक शराब ठेकेदार के इशारे पर दलित युवक को यातना दी। इस मामले में काफी हंगामा होने के बाद एक हेड कांस्टेबल, दो होमगार्ड जवानों तथा शराब ठेकेदार के एक कारिंदे के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

इसी तरह की घटना 26 दिसंबर को अमृतसर में भी देखने को मिली थी, जहां की वल्ला पुलिस चौकी में किंका नामक दलित युवक को पुलिस ने घर से उठाया था। इस युवक की पुलिस हिरासत में ही मौत हो गई थी। उसकी मां ने पुलिस पर बेटे को बेरहमी से पीटने का आरोप लगाया था, जिसके बाद पुलिस मुलाजिमों पर मामला दर्ज किया गया था।

इसी तरह बठिंडा के अंतर्गत भुच्चो मंडी पुलिस ने क्रिकेट खेलने को लेकर हुए झगड़े के मामले में 27 दिसंबर को तीन दलित युवकों गुरप्रीत, इंद्रजीत व अमृतपाल सिंह को उनके बुर्ज काहन सिंह वाला गांव स्थित घर से उठाया था। आरोप है कि इस दौरान पुलिस ने तीनों को टॉर्चर किया। हालांकि पुलिस आरोपों को नकार रही है।

Comments

Leave a Reply


Advertisement