Overseas

लंदन में इंडियन हाई कमिशन के आगे बसपा समर्थक एनआरआइज का प्रदर्शन


Updated On: 2017-06-02 19:05:47 लंदन में इंडियन हाई कमिशन के आगे बसपा समर्थक एनआरआइज का प्रदर्शन

लंदन। भारत में जाति के आधार पर दबे कुचले वर्गों के खिलाफ होने वाले अत्याचारों व इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) में हेराफेरी के मुद्दों की गूंज विदेशी धरती पर भी सुनाई दे रही है। इन मामलों को लेकर विदेश में रहने वाले एनआरआई जहां सोशल मीडिया पर खुलकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं, वहीं सडक़ पर आकर प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

इन्हीं मुद्दों को लेकर यूके में 1 जून को ऐसा ही प्रदर्शन हुआ। इस दौरान हाल ही में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में दलितों के खिलाफ हुई हिंसा को लेकर कड़ा रोष व्यक्त किया गया। साथ ही भारतीय लोकतंत्र को बचाने के लिए ईवीएम पर तुरंत पाबंदी लगाए जाने की जोरदार मांग की गई।

यह प्रदर्शन बसपा समर्थक एनआरआइज की ओर से लंदन स्थित इंडियन हाई कमिशन के सामने आयोजित किया गया था। इस दौरान बुद्धिस्ट, अंबेडकरवादी संगठन, गुरु रविदास सभा, भगवान वाल्मीकि सभा आदि संगठनों से जुड़े लोग भी बसपा समर्थक एनआरआइज के प्रदर्शन में शामिल हुए।

प्रदर्शन को संबोधित करते हुए एनआरआई खुशविंदर कुमार ने कहा कि भारत में मनुवादी व्यवस्था द्वारा दलितों, महिलाओं पर अत्याचार किए जा रहे हैं। इन अत्याचारों के खिलाफ लोगों को एकजुट होकर संघर्ष करना होगा।

उन्होंने कहा कि सिर्फ बसपा ही है, जो कि मनुवादी व्यवस्था पर नकेल कस सकती है। खुशविंदर कुमार ने कहा कि योगी सरकार के शासन में सहारनपुर में दलितों के खिलाफ हुई हिंसा बेहद दुखदायक है। इन अत्याचारों को लेकर समाज को जागना होगा और इकट्ठे होकर संघर्ष करना होगा।

इसके साथ ही उन्होंने ईवीएम का मुद्दा उठाते हुए कहा कि भाजपा ईवीएम हेराफेरी के चलते चुनाव में जीती है। योगी ईवीएम घोटाले से मुख्यमंत्री बने हैं। भारतीय लोकतंत्र को बचाने के लिए ईवीएम पर पाबंदी लगाई जानी चाहिए।

उनके अतिरिक्त रणजीत बोध, दविंदर चंदड़, मनजीत जस्सी, नाहर साहब, धर्मचंद महे, कुलदीप दीपा, रामा, दविंदर लाखा, रजिंदर पप्पू, राज माणक, हरदीप लाखा, प्रेम चमकीला, देसराज मेहमी समेत कई अन्य वक्ताओं ने प्रदर्शन को संबोधित किया।

सभी ने एक सुर में भारत में दबे कुचले वर्गों पर होने वाले अत्याचारों के खिलाफ आवाज उठाई। साथ ही ईवीएम से भारतीय लोकतंत्र को खतरा बताते हुए इस पर पाबंदी लगाकर इसकी जगह बैलेट पेपर से चुनाव करवाने की मांग की।

प्रदर्शन के दौरान -बहुजन समाज पार्टी जिंदाबाद, योगी सरकार मुर्दाबाद, ईवीएम पर पाबंदी लगाओ, जातिवाद को खत्म करो आदि के नारे गूंजते रहे। इस मौके पर बड़ी गिनती में लोग मौजूद थे, जिन्होंने ईवीएम, जातिवाद, दलितों पर अत्याचार आदि विषय से संबंधित तख्तियां हाथों में पकड़ी हुई थीं।

Comments

Leave a Reply


Advertisement