Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश : आरक्षण का लाभ न मिलने पर निकाली रैली, सरकार पर निकाली भड़ास


Updated On: 2016-09-16 15:51:03 मध्य प्रदेश : आरक्षण का लाभ न मिलने पर निकाली रैली, सरकार पर निकाली भड़ास

भोपाल। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति-जनजाति युवा संघ ने रोजी-रोटी संघर्ष अभियान के तहत बैकलॉग पदों को भरने के लिए रैली निकाली। खंदवा क्षेत्र के किला मैदान में पहले प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। फिर रैली से पद भरने की चेतावनी दी।

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक, पदाधिकारियों ने कहा प्रदेश में 2 करोड़ 66 लाख जनसंख्या के साथ सरकार अन्याय कर रही है। युवाओं को बैकलॉग पदों पर भर्ती नहीं की जा रही है। इससे युवा बेरोजगार व मानसिक रूप से परेशान है।

8 लाख 18 हजार 183 पदों में भी 1 लाख 34 हजार बैकलॉग के पद खाली है। आंगनबाड़ी, रोजगार सहायक में एकल पद बनाकर भर्ती की है। इसमें आरक्षण का पालन नहीं हुआ है। आउटसोर्सिंग से 2 लाख लोगों को नियुक्ति देकर शासन उन्हें 5 से 1 लाख 50 हजार रुपये का वेतन दे रही है। इसमें आरक्षण नहीं रखा।

स्कूल, कॉलेज में 75 हजार लोगों का हक मारा है। आरक्षण खत्म किया है। योजनाओं में 30 प्रतिशत सब्सिडी व 30 प्रतिशत उद्यमियों से सप्लाई के प्रावधान को समाप्त किया। रानी दुर्गावती, टंट्या भील, आर्थिक विकास योजना बंद कर दी है।

अजाक्स के संभागीय सचिव एसएस चौहान, केबी मंशारे, विजय कोचले, डॉ.दिव्येश वर्मा, डॉ. चंद्रजीत सांवले, संतोष सोलंकी, छतरसिंह मंडलोई, बापूसिंह परिहार, हरीश खांडेकर, डॉ. एनएस सोलंकी, उमेश ठाकुर ने संबोधित किया। अधिवक्ता जेपी गोखले राजनीतिक पार्टियों व फर्जी संगठनों पर जमकर बरसे।

उन्होंने कहा, अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग के लोगों का 60 साल बाद भी उत्थान नहीं हुआ है। पार्टियां केवल वोट बैंक की राजनीति करती है। किसी पार्टी की मुखालत करने वाले अजाक्स का क्या भला करेंगे।

Comments

Leave a Reply


Advertisement