Madhya Pradesh

मध्य प्रदेश : दलित आरक्षण के विरोध के बाद अंबेडकर की मूर्ति का अपमान, हंगामा


Updated On: 2016-08-27 15:07:36 मध्य प्रदेश : दलित आरक्षण के विरोध के बाद अंबेडकर की मूर्ति का अपमान, हंगामा

भोपाल। मध्य प्रदेश में आरक्षण का विरोध किए जाने व बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की मूर्ति का अपमान किए जाने पर मामला भडक़ गया। बताया जाता है कि यहां सागर से 55 किलोमीटर दूर स्थित खुरई की दलित बस्ती में बाबा साहब की सात फीट एक मूर्ति लगी हुई है।

रिपोट्र्स के मुताबिक, स्वयं को दलित आरक्षण विरोधी बताने वाले किसी सुजीत दीक्षित ने व्हाट्सएप पर मूर्ति का अपमान करने की धमकी भी दी थी। पुलिस के अनुसार, आरोपी को सागर से गिरफ्तार कर लिया गया है।

शुक्रवार देर रात किसी ने बाबा साहब की प्रतिमा का अपमान कर दिया। घटना की जानकारी शनिवार सुबह 9 बजे बस्ती में रहने वाले लोगों को पता चली। लोगों ने इसकी सूचना बसपा नेता राजेश अहिरवार को दी।

इस पर देखते ही देखते वहां बड़ी संख्या में लोग जुट गए। बसपा नेताओं ने वहां चक्का जाम कर दिया।

यह मामला भडक़ने के बाद तीन कांस्टेबल और एक एएसआई को निलंबित कर दिया गया है। हालांकि आक्रोशित लोग थाना प्रभारी सब इंसेप्कटर कमल सिंह सेंगर के निलंबन की मांग पर अड़े हुए थे। उन्हें भी थाने से हटा लिया गया।

खुद को दलित आरक्षण विरोधी बताने वाले सुजीत दीक्षित ने व्हाट्सएप पर ऐसा करने की धमकी दी थी। सागर की हरिसिंह गौर विवि का स्टूडेंट बताने वाला सुजीत टीचर है। उसने जातिगत आरक्षण के खिलाफ व्हाट्सएप पर मैसेज चलाया था।

हालांकि उसने 27 अगस्त को दिल्ली के रामलीला मैदान में अंबेडकर की मूर्ति तोडऩे की बात करते हुए लोगों से अपने-अपने शहरों में ऐसा करने की अपील की थी। माना जा रहा है कि या तो उसने खुरई में यह कृत्य किया या उसके उकसावे में कोई और आया।

Comments

Leave a Reply


Advertisement