India

एससी छात्र की निर्मम हत्या के बाद तनाव, इलाहाबाद में बस फूंकी, जमकर हुए प्रदर्शन


Updated On: 2018-02-12 17:17:41 एससी छात्र की निर्मम हत्या के बाद तनाव, इलाहाबाद में बस फूंकी, जमकर हुए प्रदर्शन

उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में लॉ के स्टूडेंट दिलीप सरोज की हत्या के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोगों ने सडक़ पर उतर कर जमकर प्रदर्शन किया। अनुसूचित जाति (एससी) वर्ग के छात्र दिलीप सरोज की हत्या से गुस्साए लोगों ने एसएसपी ऑफिस का घेराव किया और प्रदेश की भाजपा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

इलाहाबाद में प्रदर्शन के बीच एक बस को भी फूंक दिया गया। बस बैंक रोड पर खड़ी थी। दूसरी ओर इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर भी लोगों का भारी गुस्सा देखने को मिल रहा है। लोग बिगड़ी कानून व्यवस्था को लेकर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को कोस रहे हैं। साथ ही आरोपियों को सजा-ए-मौत देने की भी मांग कर रहे हैं।

गौर हो कि शनिवार का इलाहाबाद डिग्री कॉलेज लॉ के छात्र दिलीप सरोज की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। छात्र प्रतापगढ़ के कुंडा का रहने वाला था। वह इलाहाबाद में रहकर एलएलबी की पढ़ाई कर रहा था। शनिवार को कुछ दोस्तों के साथ वह एक रेस्तरां में खाना खाने गया था। वहां आए दूसरे पक्ष से किसी बात को लेकर बहस हो गई थी।

इसी दौरान दूसरे पक्ष के लोगों ने छात्र दिलीप सरोज की बेरहमी से पीट-पीट कर हत्या कर दी थी। पुलिस ने इस संबंध में हत्या के आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, दिलीप की हत्या का मुख्य आरोपी विजय शंकर सिंह अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

दूसरी ओर, इस मामले में बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने दुख जताया है। मायावती के निर्देश पर बहुजन समाज पार्टी ने एक प्रतिनिधिमंडल प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर के नेतृत्व में इलाहाबाद भेजा। मायावती ने कहा कि होनहार एलएलबी छात्र की हत्या पूरे दलित समाज के लिए बड़े दुख और चिंता की बात है।

उन्होंने कहा कि वास्तव में दलित छात्र की इस प्रकार की नृशंस हत्या उत्तर प्रदेश की बीजेपी शासन में अकेली नई घटना नहीं है। ऐसी दर्दनाक घटनाएं लगातार घट रही हैं। बीजेपी की संकीर्ण, जातिवादी व नफरत की राजनीति इसके लिए पूरी तरह से दोषी है. उन्होंने कहा कि सर्व समाज के खासकर पढ़े-लिखे युवक रोजगार नहीं मिलने के कारण कुण्ठा का शिकार हैं, जिस कारण अपराध हर स्तर पर लगातार बढ़ रहे हैं।

मायावती ने कहा कि दिलीप कुमार सरोज की हत्या अकारण ही खुलेआम कर दी गई. उस परिवार की भरपाई किसी भी रूप में नहीं हो सकती। फिर भी परिवार को सांत्वना की जरूरत है। इसके लिए उन्होंने बीएसपी के यूपी यूनिट के अध्यक्ष व पूर्व मंत्री राम अचल राजभर को स्थायीन बीएसपी यूनिट के साथ परिवार से मिलने का निर्देश दिया है, ताकि यथासंभव उनकी मदद की जा सके।

Comments

Leave a Reply


Advertisement