India

'एससी, एसटी व ओबीसी को नहीं मिल रहा आरक्षण का सही लाभ'


Updated On: 2017-09-18 12:20:51 'एससी, एसटी व ओबीसी को नहीं मिल रहा आरक्षण का सही लाभ'

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की ओर से सोमवार को मेरठ में की गई मंडल स्तरीय रैली में नीला सैलाब देखने को मिला। रैली में उमड़े जनसैलाब को संबोधित करते हुए बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमारी मायावती ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए।

उन्होंने कहा कि सहारनपुर के शब्बीरपुर में हिंसा भाजपा की सोची-समझी साजिश थी। ईवीएम में गड़बड़ी से लोगों का ध्यान हटाने के लिए भाजपा ने एक सोची समझी राजनीतिक साजिश के तहत सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव में दलित-राजपूत के बीच हिंसा कराई।

शब्बीरपुर में भाजपा नेताओं ने भडक़ाऊ और उत्तेजना वाले भाषण देकर घटना को और बड़ा कर दिया था। मायावती ने कहा कि मेरी हत्या का भी प्लान बनाया हुआ था, जिसमें ये सफल नहीं हो सके।

भाजपा के लोगों ने शब्बीरपुर में जातीय हिंसा के माध्यम से हमें फंसाने की साजिश रची। उन्हें ये लग रहा था कि मायावती शब्बीरपुर दौरे के दौरान उत्तेजना वाला भाषण देगी, जिससे वहां फिर से हिंसा होगी। इसी का फायदा उठाकर ये मेरी हत्या कराना चाहते थे।

मायावती ने कहा कि भाजपा एंड कंपनी के लोगों को ये मालूम नहीं था कि बसपा के नेता हर परिस्थितियों से निपटने की क्षमता रखते हैं। मायावती ने कहा कि मेरे सूझबूझ भरे भाषण की वजह से इनके मंसूबे नाकाम हो गए।

कुमारी मायावती ने कहा कि जब 18 जुलाई 2017 को उन्होंने शब्बीरपुर गांव के मुद्दे पर राज्यसभा में बोलना शुरू किया तो भाजपा मंत्रियों व नेताओं ने मुझे बोलने नहीं दिया। इसके चलते उन्होंने लोगों के हितों को देखते हुए राज्यसभा से इस्तीफा दे दिया।

बसपा प्रमुख ने कहा कि विधानसभा चुनाव में वोटिंग मशीन में गड़बड़ी कर भाजपा ने बसपा को नुकसान पहुंचाया। सोची समझी रणनीति के तहत ईवीएम में गड़बड़ी कर सबसे ज्यादा नुकसान बसपा को पहुंचाया गया। ईवीएम के मामले को बसपा सुप्रीम कोर्ट में लेकर गई है।

बसपा की मेरठ रैली के दौरान कुमारी मायावती ने बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर के जीवन संघर्ष और एससी, एसटी व ओबीसी से जुड़े मुद्दों पर खासतौर पर अपनी बात रखी।

बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर के दिखाए रास्ते पर चलने की बात करते हुए बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि वह दुखी, पीडि़त कमजोर वर्गों के लिए संघर्ष कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दलितों, आदिवासियों के आरक्षण को ठीक ढंग से लागू नहीं किया गया है। पदोन्नति में आरक्षण का मामला अभी तक लटका हुआ है। प्राइवेट सेक्टर में आरक्षण देने का मामला भी अभी लंबित है। उन्होंने कहा कि भाजपा शुरू से ही आरक्षण विरोधी रही है।

मायावती ने कहा कि बाबा साहब अंबेडकर ने पिछड़े वर्ग (ओबीसी) के लिए संघर्ष किया। धारा 340 के तहत ओबीसी वर्ग के लिए काम किया गया। बाबा साहब अति पिछड़े वर्ग के लिए आरक्षण चाहते थे।

कुमारी मायावती ने पिछड़े समाज (ओबीसी) के लिए बसपा द्वारा किए गए संघर्ष का भी रैली में जिक्र किया। उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग को आरक्षण दिलाने के लिए बसपा ने सरकार पर दबाव बनाया था। मंडल कमीशन की रिपोर्ट लागू करना के लिए बसपा ने धरना दिया। बसपा ने वीपी सिंह सरकार के आगे मंडल कमीशन रिपोर्ट लागू करने और बाबा साहब अंबेडकर को भारत रत्न दिए जाने की मांग रखी थी। इसी शर्त पर बसपा ने सरकार को समर्थन दिया था।

मौजूदा हालात पर बात रखते हुए मायावती ने कहा कि ओबीसी वर्ग के लोगों को आरक्षण का सही लाभ नहीं मिल पाया है। आबादी के हिसाब से ओबीसी कोटे में आरक्षण नहीं दिया गया। उन्होंने यह भी कहा कि सर्व समाज के लोगों का बसपा ने हमेशा ध्यान रखा है।

Comments

Leave a Reply


Advertisement