India

पुलिस हिरासत में दलित की मौत, भाभी से गैंगरेप!


Updated On: 2019-07-15 14:37:30 पुलिस हिरासत में दलित की मौत, भाभी से गैंगरेप!

कुछ साल पहले राजस्थान के नागौर में दलितों के खिलाफ भयानक खूनी कांड हुआ था, जिसमें तथाकथित उच्च जाति के लोगों ने दलितों को टै्रक्टर के नीचे कुचल कर मार दिया था, जबकि महिलाओं पर भी बर्बरता की गई थी।

एक बार फिर राजस्थान कुछ इसी तरह की बर्बरता को लेकर चर्चा में है। प्रदेश के चुरू में पुलिस हिरासत में युवक की मौत होने और पुलिस मुलाजिमों द्वारा उसकी भाभी से थाने में ही गैंगरेप किए जाने की खबर ने देशभर में हलचल मचा दी है।

आरोप है कि पुलिस ने चोरी के आरोप में एक शख्स को पकड़ा और पुलिस हिरासत में उसको यातना दी गई, जिसमें उसकी मौत हो गई। उस शख्स की भाभी का थाने में ही गैंगरेप हुआ, आंखें फोड़ीं और नाखून खींच दिए गए।

इस मामले को लेकर पीडि़ता का वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस के आला अधिकारियों ने एसपी से लेकर नीचे तक के पुलिस अधिकारी और पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई की।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अपने बयान में मृतक की भाभी ने आरोप लगाया कि 3 जुलाई को सरदारशहर थाने की पुलिस ने उन्हें उठाया और 10 जुलाई को घर छोडऩे से पहले अलग-अलग स्थानों पर उनके साथ गैंगरेप किया।

पीडि़ता के पति और मृतक के भाई ने बताया कि पुलिसकर्मियों ने उनकी पत्नी को शारीरिक रूप से बेहद प्रताडऩा दी। उन लोगों ने मेरी पत्नी की उंगलियों को कुचलने के साथ ही नाखून तक उखाड़ दिया। उसे बहुत प्रताडि़त किया है। मेरे भाई का शव जब हमें सौंपा गया तो उसके शरीर पर 30 से अधिक चोट के निशान थे।

पीडि़त महिला के मुताबिक, पुलिस वालों ने मुझे मारा। 5 या 6 पुलिस वाले थे। मुझे रस्सी से बांधा, लटकाकर मारा। मेरे साथ रेप किया। शराब पी-पी कर मारा। मुझे शराब पीने के लिए कहा। जब मैंने नहीं पी तो मुझे फिर मारा। दूसरे कमरे में ले गए। मेरे पूरे शरीर में चोट है। मेरी हालत खराब है। मेरा पूरा शरीर दर्द कर रहा है। मेरे नाखून खींच लिए इन लोगों ने, मेरी आंखों में मिर्ची डाली। खबरों के मुताबिक, एसएचओ और पांच से सात अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

Comments

Leave a Reply


Advertisement