India

70 साल बाद भी देश से जाति भेदभाव खत्म नहीं हुआ


Updated On: 2019-09-18 12:06:56 70 साल बाद भी देश से जाति भेदभाव खत्म नहीं हुआ

सुप्रीम कोर्ट ने जाति भेदभाव और सीवरेज में होने वाली मौतों को लेकर सख्त टिप्पणी करते हुए इन्हें गंभीर समस्या बताया है। कोर्ट ने सीवरेज में होने वाली मौतों को लेकर 18 सितंबर को कहा कि दुनिया में कहीं भी लोगों को मरने के लिए गैस चैंबर में नहीं भेजा जाता है। देश को आजाद हुए 70 साल से भी अधिक समय हो गया है, लेकिन हमारे यहां जाति के आधार पर अभी भी भेदभाव होता है।

सुप्रीम कोर्ट ने सीवरेज की सफाई के दौरान होने वाली सफाईकर्मियों की मौत पर चिंता जताई। कोर्ट ने कहा कि कहीं भी लोगों को बिना सुरक्षा उपकरणों के गैस चैंबर में नहीं भेजा जा सकता है। हर महीने 4-5 लोगों की इस तरह मौत हो जाती है। कोर्ट ने सवाल पूछते हुए कहा कि केंद्र सरकार बताए कि ऐसे लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर क्यों मुहैया नहीं करवाया जा रहा है।

कोर्ट ने इस स्थिति को अमानवीय करार देते हुए कहा कि इन लोगों को सुरक्षा के लिए कोई भी सुविधा नहीं दी जाती और वे सीवर व मैनहोल की सफाई के दौरान अपनी जान गंवाते हैं। इसके बावजूद सफाई कर्मियों को सुरक्षा प्रदान करने में लापरवाही बरतने वाले संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाती है।

सुप्रीम कोर्ट ने एससी-एसटी से जुड़े मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि देश की आजादी को 70 साल बीत चुके हैं, लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि यहां अभी भी जातिगत भेदभाव जारी है और सरकारें उनको प्रोटेक्ट करने में विफल रही हैं।

Comments

Leave a Reply


Advertisement