India

आदिवासी लडक़ी ने किया कमाल, ओडिशा की पहली महिला पायलट बनी


Updated On: 2019-09-09 13:52:25 आदिवासी लडक़ी ने किया कमाल, ओडिशा की पहली महिला पायलट बनी

ओडिशा की आदिवासी लडक़ी ने अपनी शानदार उपलब्धि से इस राज्य का नाम रौशन कर दिया है। यहां के मल्कानगिरी जिले की रहने वाली 27 साल की आदिवासी लडक़ी अनुप्रिया लाकड़ा व्यावसायिक विमान उड़ाने वाली राज्य की पहली महिला बन गई हैं।

पुलिस कांस्टेबल की बेटी अनुप्रिया का बचपन से पायलट बनने का सपना था, जो इस महीने इंडिगो एयरलाइंस में बतौर को-पायलट के तौर पर शामिल होने से पूरा हो गया। पिता मरीनियास लाकड़ा और मां जिमाज यास्मीन लाकड़ा ने बेटी की इस उपलब्धि पर कहा कि उसने ना केवल अपने परिवार को बल्कि पूरे राज्य को गौरवान्वित किया है।

मधुमिता के पिता ने कहा कि मेरे लिए उसकी पायलट ट्रेनिंग का खर्च उठा पाना काफी मुश्किल था। मैंने कर्ज लिया और रिश्तेदारों से भी मदद मांगी। मैंने हमेशा इस बात को सुनिश्चित किया कि मेरी बेटी को उसी क्षेत्र में शिक्षा मिले जिसमें वह चाहती है।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अनुप्रिया को उनकी इस उपलब्धि पर शुभकामनाएं दी हैं। अनुप्रिया ने मलकानगिरी में एक कॉन्वेंट से 10वीं और सेमीलीगुडा में एक स्कूल से 12वीं कक्षा पास की है, जिसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर में अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई छोड़ दी और भुवनेश्वर में पायलट प्रवेश परीक्षा की तैयारी की।

मां यास्मीन कहती हैं कि सीमित संसाधनों के बावजूद मैंने और मेरे पति ने कभी भी बेटी को बड़े सपने देखने से नहीं रोका। हमें खुशी है कि वह जो बनने के सपने देखती थी वह बन गई है। मैं चाहती हूं कि मेरी बेटी सभी लड़कियों के लिए प्रेरणा का स्रोत बने। मैं सभी माता-पिता से अनुरोध करती हूं कि वह अपनी बेटियों का साथ दें।

ओडिशा आदिवासी कल्याण महासंघ अध्यक्ष निरंजन बिसी ने कहा कि ऐसा जिला जहां अभी तक रेलवे लाइन नहीं पहुंची है, वहां के आदिवासियों के लिए यह गर्व की बात है कि एक स्थानीय महिला अब विमान उड़ाएगी।

Comments

Leave a Reply


Advertisement